Bhujangasana Benefits in Hindi - भुजंगासन के फायदे जानिए

अगर आप Bhujangasana Benefits in Hindi के बारे में खोज रहे हैं तो हम आपको बता दें कि आप सही वेबसाइट पर पहुंच चुके हैं।

Bhujangasana Benefits in Hindi - भुजंगासन के फायदे जानिए

Bhujangasana Benefits in Hindi

अगर आप Bhujangasana Benefits in Hindi के बारे में खोज रहे हैं तो हम आपको बता दें कि आप सही वेबसाइट पर पहुंच चुके हैं।


भुजंगासन जिसके बारे में हर कोई भली-भांति जानता है क्योंकि यह बहुत ही सरल आसन है और बच्चों से बूढ़ों तक कोई भी इसे बड़ी ही आसानी से कर सकता है।


    इस आसन से आप रीड की हड्डी और कमर दर्द जैसे रोगों से छुटकारा पा सकते हैं मोटापे को कम करने के लिए भी भुजंगासन बहुत ही फायदेमंद है।


    सूर्य नमस्कार की 12 स्थितियों के बारे में तो आप जानते ही होंगे Bhujangasana सूर्य नमस्कार की सातवीं स्थिति है अर्थात सातवा आसन है।


    कमर रोग से लेकर लंबाई बढ़ाने तक यह हमारी सहायता करता है इसे करना बहुत ही आसान है और बिना किसी दूसरे व्यक्ति की मदद लिए आप इसे बड़ी ही आसानी से कर सकते हैं।


    आइए अब भुजंगासन के सही अर्थ और इसके शब्दों के मेल को समझ लेते हैं।

    भुजंगासन क्या है (What is Bhujangasana)

    भुजंगासन के बारे में जानने से पहले उसके सही अर्थ के बारे में जाना बहुत जरूरी है।


    दोस्तों इस आसन के पहले शब्द यानी भुजंग एक संस्कृत का शब्द है जिसका अर्थ होता है सांप और आसन का मतलब होता है मुद्रा यानी स्थिति सांप की तरह धारण की गई मुद्रा को भुजंगासन कहते हैं।


    इस आसन को इंग्लिश में Cobra Pose भी कहते हैं भुजंगासन करने से हमारे रीड की हड्डी से जुड़ी सारी रोग की समस्या दूर हो जाती है और कमर दर्द अथवा पेट की चर्बी कम हो जाती है।


    आइए दोस्तों अब हम Bhujangasana करने के सही तरीके के बारे में जान लेते हैं क्योंकि सही तरीके से करने पर ही इस आसन का फायदा आप ले सकते हैं।

    भुजंगासन कैसे करें

    • सबसे पहले एक साफ-सुथरी जगह का चुनाव करें
    • चटाई या फिर योगा मैट को जमीन पर फैलाएं।
    • अब पेट के बल योगा मैट पर लेट जाएं।
    • अपने दोनों हाथों को कंधे के समान रखें।
    • अब सांस लेते हुए अपने हाथों के बल अपने सर और कंधों को ऊपर की ओर उठाएं।
    • अपनी टांगों को सीधा रखें।
    • जब तक इस मुद्रा में तब तक रहे जब तक आपके लिए संभव हो।
    • अब सांस को छोड़ते हुए फिर से पेट के बल लेट जाएं और अपने हाथों को पेट के साथ सटाकर रखें।
    • ध्यान रखें कि ज्यादा जबरदस्ती और जल्दबाजी ना करें।

    Bhujangasana की सही स्थिति जानने के लिए ऊपर दी गई तस्वीर को अच्छे से देखें इससे आपको भुजंगासन करने का सही तरीका समझ में आ जाएगा।


    अब आप भुजंगासन योग करने का सही तरीका जान चुके हैं लेकिन अगर आपको इस से होने वाले फायदे के बारे में पता चल जाएगा।


    तब आप अपने सगे संबंधियों और मित्रों को उनके रोग से संबंधित सलाह उन्हें दे सकते हैं और उन्हें रोजाना भुजंगासन योग करने की सलाह भी दे सकते हैं


    आइए दोस्तों अब भुजंगासन योग से होने वाले ढेरों फायदों के बारे में जान लेते हैं।

    भुजंगासन के फायदे (Bhujangasana Benefits in Hindi)

    • भुजंगासन योग करने से हमारे शरीर का रक्त प्रवाह बेहतर बना रहता है।
    • भुजंगासन योग करने से चेस्ट की चौड़ाई बढ़ती है।
    • इस आसन को करने से पीठ दर्द और कमर दर्द जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।
    • भुजंगासन योग करने से कब्ज अपच एसिडिटी जैसे रोग से छुटकारा मिलता है।
    • इस आसन को करने से हृदय और फेफड़ों को लाभ पहुंचता है।
    • गले की मांसपेशियां मजबूत होती हैं।

    भुजंगासन करने से होने वाले फायदे के बारे में जानकर आपको अच्छा लगा होगा। तो आइए दोस्तों भुजंगासन योग करने से पहले हमें किन विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए उनके बारे में जान लेते हैं।

    भुजंगासन के लिए सावधानियां 

    • गर्भवती महिलाओं को यह आसन नहीं करना चाहिए।
    • अगर पेट की सर्जरी और ऑपरेशन हुआ हो तो इस आसन को नहीं करना चाहिए।
    • किसी गंभीर रोग से पीड़ित व्यक्ति को इस आसन को नहीं करना चाहिए।
    • कंधों और रीड की हड्डी में अगर चोट लगी हो तो इस आसन को नहीं करना चाहिए।
    • इस आसन को करने के समय जल्दबाजी और जबरदस्ती नहीं करनी चाहिए।

    ऊपर दी गई सावधानियों को ध्यान से पढ़ें नहीं तो इस आसन का गलत प्रभाव भी पड़ सकता है। भुजंगासन योग को करना काफी आसान है योग करते समय हमेशा एक बात को ध्यान में रखें सांस लेने और छोड़ने की प्रक्रिया को अच्छे से करें।


    बच्चों से लेकर बड़ों तक इस आसन को किया जा सकता है।


    अगर आप भी कमर दर्द और पीठ दर्द की समस्या से छुटकारा पाना चाहते हैं और खुद को स्वस्थ रखना चाहते हैं तो इस आसन को रोजाना करके आप अपने जीवन को बेहतर बना सकते हैं।


    दिनभर काम की थकान को दूर भगाने के लिए भी यह आसन बहुत ही फायदेमंद है क्योंकि दिन भर के काम से मानसिक तनाव तो बना ही रहता है और शारीरिक थकावट को मिटाना भी बहुत ही आवश्यक होता है।

    Conclusion

    इस पूरे आर्टिकल को पढ़ने के बाद हमें उम्मीद है आप सब Bhujangasana Benefits in Hindi के बारे में अच्छे से जान चुके हैं कि आपके मन में किसी भी तरह के स्वास्थ्य संबंधित रोग या फिर आसन से जुड़े सवाल है तो हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

    ShowHideComments
    Cancel